एमपी में अब तक का सबसे बड़ा सट्टा पकड़ाया, 14.58 करोड़ रुपए बरामद

भोपाल ब्यूरो 

उज्जैन पुलिस ने मध्यप्रदेश के इतिहास में सट्टे के खिलाफ अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई की है। क्राइम ब्रांच, सायबर टीम, नीलगंगा और खाराकुंआ पुलिस ने सट्टा खिलाने वाले अंतरराष्ट्रीय गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस दौरान पुलिस ने ऑनलाइन एप्लिकेशन का उपयोग करने वाले 9 सट्टेबाजों को भी गिरफ्तार किया, हालांकि मुख्य आरोपी फरार हो गया। पुलिस ने आरोपियों के पास से 41 मोबाइल फोन, 19 लैपटॉप, 5 मैक-मिनी, 1 आईपैड, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सिमें, 2 पेन ड्राइव, 3 मेमोरी कार्ड समेत अन्य सामान के साथ 14.58 करोड़ रुपये बरामद किए गए। साथ ही विदेशी करंसी के साथ करोड़ों के लेन-देन का हिसाब-किताब भी सामने आया है। गिरफ्तार किए गए आरोपी पंजाब, राजस्थान और मध्यप्रदेश के रहने वाले हैं। जिनके तार राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर फैले हुए हैं।

पुलिस महानिरीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बताया कि टीम को बीते दिन गुरुवार को सूचना मिली कि नीलगंगा थाना क्षेत्र स्थित 19 ड्रीम्स कॉलोनी के ड्यूप्लेक्स नं 18 में पियूष चोपडा के साथ पंजाब, राजस्थान और मध्य प्रदेश के कुछ लोग कई दिनों से व्यापक स्तर में अंतरराष्ट्रीय सट्टा खिला रहे हैं। सूचना पर उपपुलिस अधीक्षक क्राइम योगेश तोमर ने पुलिस टीम के साथ दबिश दी। जहां, टी-20 वर्ल्ड कप के बांग्लादेश और नीदरलैंड का मैच पर खाई/लगाई करते आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए नौ आरोपियों में से एक राजस्थान, चार पंजाब और चार नीमच के रहने वाले हैं। उनके पास से के पास से 41 मोबाइल फोन, 19 लैपटॉप, 5 मैक-मिनी, 1 आईपैड, राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय सिमें, 2 पेन ड्राइव, 3 मेमोरी कार्ड जब्त किए गए हैं।

पुलिस महानिरीक्षक संतोष कुमार सिंह ने बताया कि कार्रवाई से पहले फरार हुए आरोपी पियूष के मुसद्दीपुरा थाना खाराकुओं स्थित घर पर दी गई दबिश में भारी मात्रा में नकदी, विदेशी करंसी, चांदी की सील्लियां, एप्पल मेकमिनी सीपीयू, 11 लेपटॉप समेत अलग-अलग रंग के 11 बैगों में रखे 14.58 करोड़ रुपये मिले। साथ ही विदेशों की करंसी के रूप में कनाडा, संयुक्त अरब अमीरात, युरो, पाउंउ, यूएस डॉलर, हंगरी यूरो, पॉलिश मुद्रा और नेपाली रुपये भी जब्त किए गए हैं। घटना पर से थाना नीलगंगा में अपराध क्रर्माक 248/24 धारा 419, 420, 467, 468, 109, 120बी भादवि, 3/4 पब्लिक गैंबलिंग एक्ट तथा 66 डी आईटी एक्ट के तहत केस दर्ज कर जांच शुरू की है।

ऐसे करते थे अपराध
आरोपी पियूष चोपडा गोपनीय तरीके लंबे समय से 19 ड्रीम्स कॉलोनी इंदौर रोड़ स्थित घर पर सट्टा संचालित कर रहा था। सट्टा व्यापार में मुनाफा होने से बीते छह महीने पहले लुधियाना पंजाब, नीमच मध्य प्रदेश, निम्बाहेडा राजस्थान से सट्टा व्यपार के लिए कुशल गुर्गों बड़ी कीमत देकर लेकर आया। पियूष ने गुर्गों को सभी संसाधन उपलब्ध कराकर राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बुकीज से सम्पर्क बनाया। इसके लिये londonexch9.com ऑनलाइन वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराकर आईडी और पासवर्ड अपने गुर्गों को खाई लगाई करने के लिये उपलब्ध कराए। londonexch9.com वेबसाइट पर लाइव क्रिकेट और टेनिस के मैच के भाव के अनुसार match- bet व session-bet प्रदर्शित होती है। इनपर bet लगाने के संबंध में पीयूष चौपड़ा अपने गुर्गों को निर्देशित करता था। पूरे मैच के दौरान बुकीज द्वारा zoom meeting एप के द्वारा और Sim Todo Apk एप्लीकेशन द्वारा लाइव कनेकटीविटी लेकर लाइन लगातार चलती रहती थी, जिस पर बुकीज और गुर्गे लाइव कम्युनिकेशन में रहते थे। इसी समय गुर्गों द्वारा पंटिंग कर खाई/लगाई कर धंधा बोला जाता था। एक बार में एक लाइन पर 50,000/- से 25,00,000/- रुपये तक का धंधा किया जाता था। धंधा कितना किया जाना है यह पियूष चोपड़ा के द्वारा गुर्गों को बताया जाता था उसके बाद वे बुकीज को धंधा उतारते हैं। इस तरह एक मैच में करोड़ों रुपयों की हार-जीत की बाजी लगाई जाती थी। इसके लिये आरोपी पीयूष द्वारा हाई स्पीड इंटरनेट डिवाइस का प्रयोग किया जात था, इसका 1 सेटअप पीयूष ने अपने घर पर भी स्थापित कर रखा था। प्रत्येक लेपटॉप में खाई/लगाई के संपूर्ण लेनदेन का हिसाब horse app एप्लीकेशन के माध्यम से पेन ड्राइव में सेव कर लिया जाता है। पेन ड्राइव्स में लेनदेन का हिसाब पियूष ही मैनेज करता है।

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *