छतरपुर में NHAI के जीएम सहित 6 लोगों को सीबीआई ने गिरफ्तार किया, 10 लाख रूपए के लेन-देन का मामला

छतरपुर ब्यूरो 

सीबीआई की दिल्ली और भोपाल से आई टीम ने भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) के कार्यालय में छापा मार कर एनएचएआई के डायरेक्टर डॉ. पीएल चौधरी, सड़क निर्माण कर रही पीएनसी कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर सहित 6 लोगों को गिरफ्तार कर दिल्ली ले गई। मामला दस लाख रूपए की रिश्वत का है, उक्त चौधरी ने उक्त रिश्वत खजुराहो झांसी फोरलेन की फायनल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करने के बदले ली है।
सीबीआई की टीम ऑफिस और डायरेक्टर के निवास से दस्तावेजों को जप्त कर ले गई है। यह पूरा मामला झांसी खजुराहो फोरलेन निर्माण में भ्रष्टाचार से जुड़ा बताया जा रहा है। हालांकि सीबीआई की टीम ने मीडिया से कुछ भी बताने से इंकार कर दिया। भरोसेमंद सूत्रों के अनुसार सीबीआई की दिल्ली और भोपाल की टीम शनिवार रात 8 बजे छतरपुर आ गई थी। टीम ने रविवार सुबह एनएचएआई के डायरेक्टर डॉ पीएल चौधरी के पन्ना रोड में अंबेडकर नगर स्थित आवास और पन्ना रोड पर ही चंद्रपुरा के पास स्थित एनएचएआई के ऑफिस में एक साथ छापा मार कार्रवाई की।

सूत्रों ने बताया कि टीम ने दोनों जगह से कुछ दस्तावेज जप्त किए हैं। बताया जाता है कि झांसी खजुराहो फोरलेन निर्माण में भ्रष्टाचार से जुड़े एक मामले की शिकायत को लेकर सीबीआई में मामला दर्ज है। इसी की जांच को लेकर सीबीआई ने आज छापा मार कार्रवाई की। सीबीआई ने दिनभर चली कार्रवाई के बाद शाम को एनएचएआई के डायरेक्टर डॉ पीएल चौधरी, सड़क निर्माण कंपनी पीएनसी के प्रोजेक्ट मैनेजर बृजेश मिश्रा, शुभम जैन, अनिल जैन, सत्य नारायण और प्रेम कुमार सिन्हा को हिरासत में ले लिया। सीबीआई की टीम ने सभी को जिला अस्पताल ले जाकर उनका मेडिकल चेकअप करवाया। बाद में टीम सभी को गिरफ्तार कर दिल्ली ले गई। सीबीआई ने इस पूरी कार्रवाई में स्थानीय पुलिस की भी बहुत कम मदद ली। जिससे पुलिस को भी मामले की कोई खास जानकारी नहीं है। सीबीआई ने 10 लोगों के खिलाफ नामजद रिपोर्ट दर्ज की है, जिसमें से 6 गिरफ्तार किए गए।

 

Spread the love

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *